क्यों नहीं मिलना चाहता गुरुमीत सिंह राम रहीम अपनी पत्नी से?

0

सौतुक डेस्क/

दो महिलाओं के बलात्कार के मामले में 20 साल की सज़ा पाए पूर्व डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरुमीत सिंह जेल में अपनी पत्नी से नहीं मिलना चाहता है.

पिछले सप्ताह बलात्कार के दोषी करार दिए गए गुरुमीत सिंह ने जेल के नियमों के अनुसार प्रशासन को ऐसे लोगों के नाम की सूची उपलब्ध कराई है जिनसे वो सजा के दौरान मिलना चाहता है. लेकिन उस सूची में उसकी पत्नी का नाम नहीं है.

एनडीटीवी की एक खबर के अनुसार, गुरुमीत सिंह ने 10 लोगों के नाम की सूची जेल प्रशासन को उपलब्ध कराई है. इस तरह की सूची हर कैदी को सज़ा के शुरुआत में उपलब्ध करानी पड़ती है.

इसी खबर के अनुसार उस सूची में बलात्कार के दोषी बाबा ने अपनी पत्नी हरजीत कौर का नाम नहीं दिया है. अपनी सूची में उसने अपने बेटी-दामाद, बेटा-बहु और अपनी माँ का नाम दिया है. इनलोगों के साथ उस सूची में हनीप्रीत, गुरुमीत की मुंहबोली बेटी का नाम भी शामिल है.
गुरुमीत के गुनाहगार पाए जाने के बाद हनीप्रीत से जुड़े तमाम विवाद उभर कर सामने आने लगे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हनीप्रीत, डेरासच्चा प्रमुख होने की दावेदार थी.

उसके बाद हनीप्रीत के पति का एक पुराना बयान मीडिया में काफी चला जिसमें उसने अपनी पत्नी और उसके मुंहबोले बाप गुरुमीत सिंह के संबंधो पर सवाल खड़ा किया था .

जेल जाने के बाद, गुरुमीत सिंह ने जेल प्रशासन को अर्जी दी थी कि हनीप्रीत सिंह को उसके साथ रहने दिया जाए. इसकी वजह में उसने बताया कि हनीप्रीत उसकी फिजियोथैरेपिस्ट है इसलिए वह उसको अपने साथ रखना चाहता है.

ऐसे में एक सवाल उठता है कि गुरुमीत अपनी पत्नी से क्यों नहीं मिलना चाहता? क्या सज़ायाफ्ता गुरुमीत के इस रंगीन जीवन का उस महिला पर भी कोई असर पड़ा होगा. क्या उसका पक्ष भी कभी सामने आ पायेगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here