क्या मोदी जी को मालूम है कि कैसे-कैसे लोग डिस्लेक्सिया से प्रभावित रहे हैं!

1

उमंग कुमार/

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का एक विडियो क्लिप वायरल हो रहा है जिसमें वो एक ख़ास किस्म की समस्या का मजाक बना रहे हैं. इस विडियो में वे डिस्लेक्सिया जैसी बीमारी का इस्तेमाल कर अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदी राहुल गाँधी का मजाक बनाने का प्रयास कर रहे हैं. यह विडियो 2 मार्च, 2019 के एक कार्यक्रम का है जब प्रधानमंत्री आईआईटी, खड़गपुर में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन के फाइनल के दौरान वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छात्रों को जवाब दे रहे थे.

वीडियो में देहरादून की एक छात्रा, डिस्लेक्सिक व्यक्तियों की समस्याओं को हल करने के लिए अपने प्रोजेक्ट के बारे में बता रही है . वह कहती है कि सीखने की कठिनाइयों का सामना करने के बावजूद डिस्लेक्सिक बच्चे रचनात्मक हो सकते हैं. इसी बीच मोदी ने हस्तक्षेप किया और पूछा कि क्या यह 40-50 वर्ष के बच्चों की भी मदद करेगा! देखने से स्पष्ट होता है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का मजाक उड़ा रहे थे.

फूहड़ लगने वाली हंसी के बाद वह लड़की फिर से अपनी बात शुरू करती है. लेकिन मोदी जी जैसे उस लड़की की बात में कोई दिलचस्पी न हो, फिर से हस्तक्षेप करते हैं और कहते हैं कि अगर इस 40 -50 साल के लड़के का इलाज हो सके तो उसकी माँ काफी खुश होगी. फिर एक फूहड़ हंसी शुरू हो जाती है. खैर, नरेन्द्र मोदी को शायद यह नहीं मालूम कि इस समस्या से जूझते हुए भी लोग शीर्ष पर पहुंचे हैं. आईये वैसे कुछ लोगों के बारे में जानते हैं.

टॉम  क्रूज़

हॉलीवुड में कई ब्लॉकबस्टर और एक्शन से भरपूर फ़िल्में देने वाले अभिनेता टॉम क्रूज को 7 साल की उम्र पता चला था उन्हें डिस्लेक्सिया है. लेकिन इसका ख़ास असर उनपर नहीं हुआ. उन्होंने अपनी पढाई जारी रखी. अपनी मुश्किलों से जीतने के लिए उन्होंने खुद कई तरीके ईजाद किये और अब सबको मालूम है कि वे हॉलीवुड सफल स्टार बने.

लियोनार्डो दा विंसी

दुनिया की कुछेक सबसे प्रसिद्ध पेंटिंग में से एक मोनालिसा को रचने वाले चित्रकार लियोनार्डो दा विंसी को भी यह समस्या थी. लेकिन बाद में दा विंसी ने गणित, मूर्तिकला और एक आविष्कारक के रूप में नाम कमाया.

अल्बर्ट आइंस्टीन

जब विज्ञान की बात होती है तो इनका नाम आना लाजिमी हो जाता है. पर कौन ये मानेगा कि एक समय अलबर्ट आइंस्टीन को भी सीखने में मुश्किलें आती थीं. दुनिया के सबसे प्रभावशाली भौतिकविदों में से एक, आइंस्टीन ने सापेक्षता के नियमों को विकसित किया.

जॉन एफ कैनेडी, जॉर्ज वाशिंगटन और जॉर्ज डब्ल्यू बुश

संयुक्त राज्य अमेरिका के इन सभी राष्ट्रपतियों को डिस्लेक्सिक माना जाता था. इन्हें बचपन के दिनों में सीखने में और सामान्य गतिविधियों को अंजाम देने में मुश्किलें आईं पर बाद में जाकर ये दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्ट्रपति बने.

पाब्लो पिकासो

पिकासो की पेंटिंग. अमूर्त कला को अपनी कूची से सारगर्भित बनाने वाले पिकासो के बारे में कई लोग मानते हैं कि इन्हें डिस्लेक्सिया थी. कहते हैं कि इस से उपजी समस्या उनके असाधारण चित्रकला विचारों को प्रेरित करती थी.

स्टीवन स्पीलबर्ग

फिल्म के इतिहास में सबसे प्रभावशाली फिल्म व्यक्तित्वों में से एक, स्टीवन स्पीलबर्ग शायद हॉलीवुड के सबसे प्रसिद्ध निर्देशक और दुनिया के सबसे धनी फिल्म निर्माताओं में से एक हैं. तीन अकादमी पुरस्कारों के विजेता, तीन गोल्डन ग्लोब और अन्य कई पुरस्कार जीतने वाले इस फिल्म निर्माता को भी यह समस्या थी.

इन सबके अलावा स्टीव जॉब्स, जे एफ केनेडी, वाल्ट डिज्नी, जैमी ओलिवर, रिचर्ड ब्रान्सन, रोबी विल्लिअम्स, हॉलीवुड एक्टर विल स्मिथ, प्रसिद्ध संगीतकार मोज़ार्ट जैसी जानी-मानी हस्तियाँ इस समस्या से प्रभावित रही हैं.

1 COMMENT

  1. अंग्रेजी का एक शब्द है sadist जिसका मतलब है परपीड़ा में आनंद लेना। नफरत और अहंकार से लबरेज प्रधानसेवक इस शब्द के जीवंत उदहारण है। उनके बारे में कुछ भी कहना उनके ‘ बंद दिमाग ‘ समर्थकों को नागवार गुजरता है। यह माहौल के जहरीला होने की शुरुआत है। जल्द ही देश की फिजाओ में जो शाब्दिक
    जहर फैलने वाला है उसकी कल्पना आसान है। हमेशा की तरह यह प्रसंग मुख्यधारा के तथाकथित राष्ट्रीय अखबारों और चैनलों को नजर नहीं आया है। दुआ कीजिए कि इस काली रात की जल्द सुबह हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here