सीनियर जर्नलिस्ट गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या

0
The News Minute

सौतुक डेस्क/

सामजिक मुद्दों पर खुलकर राय रखने वाली कर्नाटक की सीनियर जर्नलिस्ट गौरी लंकेश को मंगलवार की शाम कुछ अज्ञात लोगों ने गोली मारकार हत्या कर दी. यह घटना राजा राजेश्वरी नगर स्थित उनके निवास पर हुई.

मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार, शाम 8 बजे के करीब कुछ अनजाने लोगों ने गौरी को गोली मार दी और घटनास्थल से फरार हो गए. आ रही खबरों के अनुसार उनको पांच गोलियां मारी गईं.

पुलिस के अनुसार गौरी अपने कार से उतरकर अपने घर का दरवाजा खोल रही थीं जब कातिलों ने उनपर हमला किया. गोली उनके सीने में लगी और घटनास्थल पर ही उनकी मृत्य हो गई.

दी न्यूज़ मिनट वेबसाइट से बात करते हुए डीजीपी आर के दत्ता ने बताया कि पुलिस को भी खबर तुरंत ही मिली है. गौरी अपने घर को लौट रहीं थी. उनका घर राजराजेश्वरी नगर के आइडियल होम लेआउट में पड़ता है. वो अपने कार से उतरी और दरवाजा खोल रही थी जब उनको गोली मारी गई. अभी कातिलों के बारे में पता नहीं चला है.

गौरी के एक मित्र ने एक स्थानीय मीडिया को बताया कि गौरी साढ़े सात बजे तक काम कर रही थी और उसके बाद जब घर लौटी तब यह हादसा हुआ.

गौरी के पिता पी लंकेश हैं  जो लेखक, अनुवादक और पत्रकार है.  गौरी लंकेश पत्रिका की संपादक थीं और उसमे लेख लिखती थीं जिसमे उनका रुझान दक्षिण पंथ के खिलाफ था. वो अपना लेख कन्नड़ और अंग्रेजी दोनों भाषाओ में लिखती थीं.

जिस तरीके से गौरी की हत्या की गई है वो कुछ एम एम कलबुर्गी से मिलता जुलता सा है. कलबुर्गी की हत्या दो साल पहले कर दी गयी थी.

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार धारवाड़ से भाजपा के सांसद प्रहलाद जोशी और एक और नेता उमेश धुशी ने गौरी के संस्था लंकेश के खिलाफ मानहानि का दावा कर रखा था. जिस रिपोर्ट की शिकायत की गई थी वह 23 जनवरी 2008 को प्रकाशित की गई थी.

नारद न्यूज़ को पिछले साल दिसंबर में दिए एक साक्षात्कार में गौरी ने कहा था कि एक भारतीय नागरिक के बतौर वो भाजपा के सांप्रदायिक राजनीति का विरोध करती हैं. उन्होंने कहा था कि वो हिन्दू धर्म के गलत व्याख्या का भी विरोध करती हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here