शाकाहार-मांसाहार से बिगड़ गया पूरा खेल, एक सच्ची घटना जो किसी थ्रिलर से कम नहीं

0
साभार: द न्यूज़ मिनट

सौतुक डेस्क/

बॉलीवुड से निकलती हुई क्राइम थ्रिलर की तरह है यह रियल लाइफ की कहानी. इसमें  एक महिला अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति का खून करती है और फिर अपने प्रेमी को उसकी शक्ल देकर उसी के साथ रहना चाहती है. सबकुछ प्लान के मुताबिक चल रहा होता है कि एक छोटी से गलती से पूरा बना बनाया खेल बिगड़ जाता है.

इस रियल लाइफ थ्रिलर का खुलासा किया है तेलंगाना पुलिस ने जो खुद नगरकुर्नूल शहर में हुई इस घटना पर हैरान है.

शहर के एक निजी अस्पताल में नर्स की नौकरी करने वाली 27- वर्षीया एम स्वाति की शादी सुधाकर रेड्डी से हुई थी. उनकी शादी को तीन साल हो चुके थे और एक बच्चा भी था. लेकिन काम के दौरान राजेश नाम के एक फिजियोथेरापिस्ट राजेश से उसकी नजदीकियां बढीं. मुश्किल यह थी कि शादीशुदा स्वाति अपने प्रेमी के साथ रहे तो कैसे रहे.

इस समस्या से निजात पाने के लिए प्रेमी युगल ने एक साजिश रची जिससे की सांप भी मर जाए और लाठी भी न टूटे. स्वाति का पति रास्ते से हट भी जाए और स्वाति और उसका प्रेमी, दोनों शान्ति से अपना जीवन भी गुजार लें.

इस समस्या से निजात पाने के लिए प्रेमी युगल ने एक साजिश रची जिससे स्वाति का पति रास्ते से हट भी जाए और स्वाति और उसका प्रेमी, दोनों शान्ति से अपना जीवन भी गुजार लें

विगत 27 नवम्बर को दोनों ने मिलकर रेड्डी को एनेस्थीसिया का एक इंजेक्शन दिया और उसके बेहोश होते ही उसके सर पर वार करके उसकी हत्या कर दी. बाद में इनलोगों ने मिलकर रेड्डी की लाश को जंगल में ले जाकर जला दिया.

प्लान के अनुसार अब राजेश को हुए रेड्डी में तब्दील करना था. इसके लिए स्वाति ने राजेश के चेहरे और शारीरिक बनावट में प्लाटिक सर्जरी के द्वारा थोड़े-बहुत बदलाव कर उसे नया ‘रेड्डी’ बनाने की योजना बनाई थी.

प्लान के मुताबिक़, स्वाति ने राजेश के चेहरे पर थोड़ा सा एसिड डाला, और रेड्डी यानि के अपने मृत पति के घरवालों को कहा कि किसी अनजान व्यक्ति ने रेड्डी पर एसिड से हमला कर दिया है. नए ‘रेड्डी’ यानि राजेश को एक बड़े  अस्पताल  में ले जाया गया, जहाँ डाक्टरों ने प्लास्टिक सर्जरी की सलाह दे डाली. प्रेमी युगल को यही चाहिए था.

‘रेड्डी’ का इलाज भी शुरू हो गया. जब राजेश और स्वाति को लगभग विश्वास हो चला था कि बस उनका प्लान कामयाब हो चुका है, ठीक उसी वक़्त कहानी में एक नया मोड़ आ गया.

रिश्तेदारों को पहली बार शक तब हुआ जब ‘रेड्डी’ ने उसके जैसे मरीजों को दिया जानेवाला मटन सूप पीने से इनकार कर दिया. उन्हें झटका लगा जब ‘रेड्डी’ ने यह कहकर सूप पीने से मना कर दिया कि वह शाकाहारी है, जबकि असली रेड्डी मांसाहारी था.

रिश्तेदारों को पहली बार शक तब हुआ जब ‘रेड्डी’ ने उसके जैसे मरीजों को दिया जानेवाला मटन सूप पीने से यह कहकर मना कर दिया कि वह शाकाहारी है, जबकि असली रेड्डी मांसाहारी था

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, रिश्तेदारों का शक और बढ़ा जब उन्होंने ‘रेड्डी के ’ व्यवहार में कुछ बदलाव नोटिस किये.  फिर उन्होंने उससे कुछ रिश्तेदारों के बारे कुछ पूछा या पहचानने को कहा, तो उसने बोलना छोड़कर सांकेतिक भाषा में बात करना शुरू कर दिया.

इसके बाद रेड्डी के परिवारवालों ने पुलिस को खबर कर दी. पुलिस द्वारा लम्बी पूछताछ के दौरान स्वाति से राजेश के साथ मिलकर अपने पति की हत्या करने की बात कबूल ली.

बीते रविवार पुलिस ने स्वाति को गिरफ्तार कर लिया. स्वाति ने कहा कि उसने तेलुगु फिल्म येवादु से प्रेरित होकर यह कदम उठाया था. राम चरण तेजा और अल्लू अर्जुन अभिनीत यह फिल्म 2014 में आई थी. इस फिल्म में एक युवा (अल्लू अर्जुन) बुरी तरह घायल हो जाता है और फिर एक महिला प्लास्टिक सर्जन उसे अपने बेटे (राम चरण) का चेहरा दे देती है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि राजेश को अस्पताल से छूटने के बाद पुलिस कस्टडी में ले लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here