अजब मध्य प्रदेश में आदिवासियों से कहा गया घर के सामने लिखो ‘मेरा परिवार गरीब है’

0

शिखा कौशिक/

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में गरीब परिवार जिन्हें सरकार से मदद लेनी है, को अपने घर के सामने लिखना होगा कि ‘मेरा परिवार गरीब है’. इस जिले के सहरिया आदिवासी परिवारों के करीब सौ घरों पर ऐसा लिखा गया है.

यह मामला तब उजागर हुआ जब उड़ीसा से कानून की पढाई कर रहे अभय जैन ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को इससे अवगत कराया. इस शिकायत के अनुसार मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के बिनेगा गाँव के आदिवासियों को अपने घरों के आगे साफ़ शब्दों में पेंट करवाने को कहा गया है जिसमें लिखा होना चाहिए, ‘मेरा परिवार गरीब है’. यह गाँव चन्दनपुरा पंचायत में आता है. इसके साथ ही उनसे यह भी कहा गया है कि आप गरीबी रेखा से नीचे (BPL) कार्ड का नंबर भी लिखेंगे.

लोगों के अनुसार सरकारी अधिकारियों ने इन गाँव वालो से कहा है कि सरकार से गरीबों को दी जाने वाली सुविधा तभी मिलेगी जब वे अपने घर के सामने की दीवार पर ऐसा लिखवायेंगे. इस गाँव में कुल 172 परिवार हैं जिनमें से सौ के करीब सहरिया आदिवासी हैं.

अभय जैन जो शिवपुरी जिले के ही रहने वाले हैं उनको इस बात का अंदाजा तब हुआ जब वह अपने घर घुमने आये और देखा कि आदिवासियों के घरों के सामने बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा हुआ है कि ‘मेरा परिवार गरीब है.’ जैन ने आयोग को इससे अवगत कराया. इन्होंने आयोग को लिखा कि किसी के लिए भी अपने घर के सामने ऐसा लिखना शर्म का विषय हो सकता है और यह उनके अधिकार का हनन है.

यहाँ आधे से अधिक ऐसे घर हैं जिन्होंने अपने घर पर ‘मेरा परिवार गरीब है’ लिखवा भी रखा है  फिर भी उनको  महीनों से राशन नहीं मिला है

एक अखबार से बात करते हुए अभय ने कहा कि गरीबी कोई ऐसा तमगा या सम्मान नहीं है कि लोग उसे दिखाते चलें. यही नहीं, अधिकारियों ने इन आदिवासियों को यह लिखने पर मजबूर तो कर दिया पर बहुत से ऐसे परिवार हैं जिनको महीने भर से राशन नहीं मिला है. जैन का कहना है कि आधे से अधिक ऐसे घर हैं जिन्होंने अपने घर पर ‘मेरा परिवार गरीब है’ लिखवा भी रखा है पर उनको महीनों से राशन नहीं मिला है.

अभय की शिकायत के बाद मानवाधिकार आयोग ने मध्य प्रदेश शासन से इस पर जवाब माँगा है. मीडिया से बात करते हुए शिवपुरी कलक्टर तरुण राठी ने माना कि ऐसा कोई नियम नहीं है जो आदिवासियों को उनकी दीवार पर यह लिखने के लिए बाध्य करे. उन्होंने यह भी कहा कि उनके जिले में ऐसा हुआ है उनको इसकी जानकारी नहीं है और वह इससे जुड़े अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here