फेसबुक पर पोस्ट लिखने भर से मध्य प्रदेश में बलात्कार का मामला दर्ज

0

सौतुक डेस्क/

संभवतः देश का यह पहला मामला होगा जहां फेसबुक पर पोस्ट लिखने के लिए बलात्कार की धारा लगाकार केस दर्ज किया गया हो. ऐसी घटना कल रविवार को मध्य प्रदेश में हुई, जब नीमच में रहने वाले जिनेन्द्र सुराना को पुलिस ने उनके फेसबुक पोस्ट पर स्वयं संज्ञान लेकर बलात्कार की धारा लगाई.

यही नहीं पुलिस ने इसके लिए प्रेस से बात भी की. मीडिया में छपी खबर के अनुसार मंदसौर के एसपी डी कल्याण चक्रवर्ती ने मीडिया से कहा है कि 24 नवम्बर को नीमच निवासी जिनेन्द्र सुराना ने फेसबुक पर एक विवादित पोस्ट डाली थी जिसमें उन्होंने  लिखा था कि मध्य प्रदेश में रेप करवाओ और पद्मावती अवार्ड पाओ सरकार की नई घोषणा. इस पर वहाँ के कोतवाली थाने में धारा 376 और आईटी एक्ट की एक धारा लगाई गयी है.

यह पोस्ट सुराना ने तब लिखी जब मध्य प्रदेश सरकार ने भी पद्मावती फिल्म को बिना देखे उसपर प्रतिबन्ध लगाने का फैसला किया. इसके पहले कुछ और राज्यों ने ने भी इस फिल्म पर पहले ही प्रतिबन्ध लगा दिया है. राजस्थान सरकार ने तो केंद्र सरकार को पत्र लिखकर निवेदन किया है कि इस फिल्म को रिलीज़ ही न होने दिया जाए.

भोपाल समाचार.कॉम से साभार

मध्य प्रदेश के इस फैसले पर व्यंग करते हुए सुराना ने अपने फेसबुक पर यह कमेन्ट लिखा जिसे पुलिस ने विवादास्पद पाया है.

न्यूज़ एजेंसी आईएनएस से खरगोन के डीआईजी एके पाण्डेय ने बात करते हुए कहा कि सुराना का पोस्ट गलत है और यह औरों को भी इस अपराध को दोहराने के लिए प्रेरित करता है. इस समाचार एजेंसी से बात करते हुए पाण्डेय ने कहा है कि पुलिस उन लोगों पर भी कार्यवाही करने का विचार कर रही है जिन्होंने उस पोस्ट पर कमेन्ट किया था. पुलिस इस बार विचार कर रही है कि उनलोगों पर किस धारा के अंतर्गत कार्यवाही की जा सकती है.

जिनेन्द्र सुराना मीडिया में लिखते रहे हैं. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि वह अपने इस पोस्ट में मध्य प्रदेश सरकार पर व्यंग कर रहे थे. अगर सरकार व्यंग करने पर इस तरह की धाराएं लगाएगी तो लोग मामूली बात कहने से भी डरेंगे. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here