नितीश अगर कांग्रेस के मुखिया बन जाएँ तो शायद विपक्ष की कोई बात बने- रामचन्द्र गुहा

0

सौतुक डेस्क/

नितीश कुमार बिना राजनीतिक दल  के नेता है और  कांग्रेस बिना नेता के राजनीतिक दल है. अगर नितीश कुमार अच्छी सूझबूझ के साथ कांग्रेस का अधिग्रहण कर लेते हैं तो मुझे लगता है आने वाले चुनाव में विपक्ष के लिए मौका होगा. मुझे मालूम है कि ऐसा नहीं होने जा रहा पर मेरी कामना ऐसी ही है.

इंडिया आफ्टर गाँधी के प्रकाशन के दस वर्ष पूरा होने पर  एनडीटीवी को साक्षात्कार देते हुए रामचंद्र गुहा ने ऐसा कहा जिसको ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ ने अपने वेबसाइट पर आज प्रकाशित किया है.  इस साक्षात्कार में गुहा कहना है  कि अभी विपक्ष के पास ऐसा कोई नेता नहीं है जो नरेन्द्र मोदी के विकल्प के तौर पर खड़ा हो सके. उन्होंने नीतिश कुमार में उम्मीद जताते हुए कहा  कि मेरी कामना है कि नीतिश विपक्ष के नेता के तौर पर आगे आयें.

कांग्रेस के वर्तमान स्थिति पर बोलते हुए गुहा ने कहा कि राहुल गाँधी अगर राजनीति त्यागते हैं तो समझिये कि वो  खुद पर, अपने दल और देश पर बड़ी मेहरबानी करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि संभव है कि देश को कांग्रेस की जरुरत ही नहीं है. उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि भविष्य में कोई और दल उभर सकता है.

जाने माने इतिहासकार गुहा की ‘इंडिया आफ्टर गाँधी’ पहली बार वर्ष 2007 में प्रकाशित हुई थी.  यह पुस्तक पुनः प्रकाशित हो रही है जिसमें पिछले दस साल में हुए उतार-चढ़ाव का भी ज़िक्र होगा. इसमें कांग्रेस का पतन, नरेन्द्र मोदी का उत्थान, आर्थिक विकास, जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे भी शामिल होंगे .

अपने साक्षात्कार में उन्होंने वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जा, जोश और रणनीति की भी तारीफ की पर साथ ही यह भी कहा कि जिन लोगों ने उनको यह सोचकर वोट दिया था कि वह कट्टरवादी ताकतों से दूरी बनाकर विकास पर ध्यान देंगे, उन्हें काफी निराशा हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here