अब ब्राह्मण लड़कियों को ‘महान’ परंपरा से अवगत कराने के लिए चेन्नई में कैंप

0
यूट्यूब से साभार

उमंग कुमार/

अगर आप लड़की हैं और ब्राह्मण भी तो आपको अपनी ‘महान’ परंपरा से अवगत कराने के लिए आने वाले गणतंत्र दिवस को एक कैंप आयोजित किया जा रहा है.

तमिलनाडु के राजधानी चेन्नई में गणतंत्र दिवस को दिन भर के लिए आयोजित इस कैंप में शामिल होने के लिए कुछ जरुरी शर्ते हैं. अव्वल तो लड़की होना चाहिए और उम्र दस साल या उससे ऊपर. शादीशुदा महिलाओं के लिए यह आयोजन नहीं है. उसके बाद इसमें शामिल होने के लिए लड़कियों को पारंपरिक ड्रेस में आना होगा. अलबत्ता इस आयोजन से जुड़े पोस्टर में यह नहीं बताया गया है कि पारंपरिक ड्रेस मतलब सिर्फ साड़ी है या सलवार-कुर्ता इत्यादि भी शामिल है. इसके अतिरिक्त अगर कोई लड़की इसमें शामिल होती है तो उसको दिन भर वहाँ रहना अनिवार्य होगा.

अब आती है बारी इस आयोजन के उद्देश्य की. इसमें इन लड़कियों को अपनी संस्कृति और ‘महान’ परंपरा से अवगत कराया जायेगा ताकि वे आने वाले पीढ़ियों की अभिभावक बन पायें.

सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर घूम रहे इसके पोस्टर बताते हैं कि लड़कियों को कुछ प्रैक्टिकल टिप्स भी दिए जायेंगे. इस प्रैक्टिकल या कहें व्यावहारिक टिप्स का उद्देश्य क्या होगा और किस क्षेत्र में काम आएगा वह इस पोस्टर में नहीं दिया गया है.  यह पोस्टर बताता है कि इस कैंप का उद्देश्य नौजावान लड़कियों को सदियों पुराने संप्रदाय का भविष्य का अभिभावक बनाना है.

इस कैंप को आयोजित करने वाले हैं शर्मा शास्त्रिगल जो खुद को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से पिछले 40 सालों से जुड़ा हुआ बताते हैं. हिन्दू परंपरा पर बहुत विस्तृत पुस्तक लिखने का दावा करते हैं. यह सब उनके ब्लॉग पर मौजूद है. अपने ट्वीटर अकाउंट के अनुसार ये वेद के शिक्षक भी हैं.

इन्होने 26 जनवरी को दस साल और उससे बड़ी कुंवारी लड़कियों के लिए यह कैंप आयोजित किया है. इस कैंप में अधिक लड़कियां शामिल हों इसके लिए उन्होंने दोपहर का भोजन भी रखा है.

सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर बड़ी संख्या में लोगों ने इसे जाति आधारित आयोजन करार दिया है. साथ में जिस तरीके से शर्ते रखी गयी हैं जैसे कुंवारी लड़की, दस साल या उससे बड़ी, दिन भर वहाँ रहना अनिवार्य इत्यादि को भी लोगों ने भर्त्सना की और मजाक उड़ाया. कई लोगों ने तो यह भी लिखा है कि इसी उम्र से बच्चों के दिमाग को भ्रष्ट करने की कोशिश की जा रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here