बिहार में बाढ़ से 341 जानें गयीं, 1.46 करोड़ प्रभावित

0

सौतुक डेस्क/

बिहार फिर से बाढ़ की चपेट में है और इसकी वजह से राज्य में अब तक कुल 341 लोगों की मृत्यु हो चुकी है.  इसके अलावा  इस बाढ़ ने राज्य के 18 जिलों में भारी तबाही मचाई है जिसमे अब तक कुल 1.46 करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं. सरकारी आंकड़े के अनुसार, अब तक लगभग 7.61 लाख लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में पहुंचा दिया गया है. साथ ही कुछ जगहों पर जलस्तर नीचे आने के साथ लोग घर भी वापिस लौट रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 अगस्त को बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यह जानकारी एक ट्वीट के माध्यम से दी. उन्होंने लिखा, “प्रधान मंत्री 26 अगस्त को बिहार के बाढ़ प्रभावित हिस्सों के हवाई सर्वेक्षण के लिए आ रहे हैं,”

राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के विशेष सचिव अनिरुद्ध कुमार ने बताया है कि लगभग 2.2 9 लाख लोग 1,085 राहत शिविरों में रह रहे हैं. इनके अनुसार, केवल अररिया जिले में 75 मौतें हुईं हैं. अन्य प्रभावित जिलों में सीतामढ़ी (36), पश्चिम चंपारण (36), कटिहार (26), किसनगंज (23), मधुबनी (23), पूर्वी चंपारण (1 9), दरभंगा (19), मधेपुरा (1 9), सुपौल (15), गोपालगंज (14) इत्यादि हैं.  पूर्णिया (9) मुजफ्फरपुर (7), खगरिया (6), सारण (6) और सहरसा (4) इत्यादि शामिल है.

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग की रिपोर्ट में कहा गया है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 1,608 कम्युनिटी रसोई का संचालन किया जा रहा है जिसकी मदद से मंगलवार को करीब 4.52 लाख बाढ़ पीड़ितों को भोजन उपलब्ध कराया गया.

सड़क निर्माण विभाग के एक बयान में कहा गया है कि बाढ़ के पानी में कुल 203 राज्य हाईवे और अन्य सड़कें क्षतिग्रस्त हुईं जिनमें से 95 प्रतिशत मरम्मत की जा चुकी हैं और यातायात के योग्य हो चुकी हैं. वहीँ मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया में बारिश की संभावना है.

बाढ़ बिहार की शाश्वत समस्या है. प्रत्येक साल इस बाढ़ से राज्य के कई जिले प्रभावित होते हैं. राज्य का 73.06 प्रतिशत क्षेत्र ऐसा है जहां बाढ़ आने की सम्भावना रहती है. जाने माने पत्रकार सरुर अहमद लिखते हैं कि देश का कुल क्षेत्र जहां बाढ़ से प्रभावित (प्रोन) होने का खतरा रहता है उसका 16.5 प्रतिशत बिहार में आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here