Sunday, September 15, 2019
Home Tags Rahul Gandhi

Tag: Rahul Gandhi

यह एक सूत्र आपको कांग्रेस और भाजपा के तीन दशक समझाएगा

जितेन्द्र राजाराम/ जिस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का डंका आज चारो तरफ बज रहा है उसी को आठ प्रतिशत से 38 प्रतिशत मत पाने में...

क्या सच में आज के राजनितिक चुनौती का हल राहुल गाँधी...

उमंग कुमार/ जब से लोकसभा चुनाव का परिणाम घोषित हुआ है, लोग कांग्रेस पार्टी को यह सलाह देते फिर रहे हैं कि अब बस एक...

भाजपा और कांग्रेस के मैनिफेस्टो की पड़ताल

उमंग कुमार/ वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले चरण में दो दिन बाकी हैं और आखिरी समय में सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी ने भी अपना मैनिफेस्टो जारी किया. संकल्प पत्र के नाम से जारी इस मैनिफेस्टो में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसपर चर्चा होगी, जैसा कि कांग्रेस के मैनिफेस्टो के साथ हुआ. पिछले सप्ताह जारी अपनेमैनिफेस्टो में कांग्रेस पार्टी ने न्याय स्कीम की घोषणा की और कहा कि देश के गरीबों को सालाना 72 हज़ार की आय सुनिश्चित की जायेगी. इस योजना की वजह से कांग्रेस के मैनिफेस्टो पर लागातार बात हुई. पक्ष और विपक्ष दोनों में. यहाँ तक भाजपा के कई नेता और नीति आयोग के राजीव कुमार तक को इसकेखिलाफ बोलने की जरुरत आन पड़ी, जिसके लिए निर्वाचन आयोग ने उनकी खिंचाई भी की. देश में बेरोजगारी चरम पर है. मोदी सरकार के कार्यकाल में किसानों ने लागातार प्रदर्शन किया है. ऐसे में सवाल है कि भाजपा के मैनिफेस्टो में इतनी उदासी क्यों! इन समस्याओं से निपटने के लिए इस मैनिफेस्टो में कोई दूरदृष्टि क्यों नहीं दिखाई गई है!  इसकी मुख्य वजह है, मोदी सरकार की मजबूरी, जिसमें वहयह मान नहीं सकते कि देश में कोई बड़ी समस्या है. जैसा कि अमित शाह ने मैनिफेस्टो के जारी होने के मौके पर बोला कि देश अब महाशक्ति बन चुका है. अब, जब महाशक्ति बन ही चुका है तो कोई बड़ा विज़न लाने की जरुरत ही क्यों है. नरेंद्र मोदी की मजबूरी यह है कि अगर इन समस्याओं को ग़लती से मान लिया तो देश के लोग उनसे हिसाब मांगेंगे कि आपने अपने कार्यकाल में इन सब मुद्दों पर क्या किया. इसीलिए मोदी अपने चुनाव प्रचार में भी सिर्फ पकिस्तान, राष्ट्रवाद या फिर कांग्रेस के कार्यकाल की बातें कर रहे हैं. उन्हें मालूम है कि अगरगलती से लोगों का ध्यान देश की समस्याओं की तरफ आ गया तो भारी मुश्किल हो जायेगी. दूसरी तरफ, कांग्रेस ने अपने मैनिफेस्टो में न केवल देश में व्याप्त भीषण बेरोजगारी, कृषि संकट, स्वास्थय और शिक्षा से जुड़ी समस्या को उठाया बल्कि इन समस्याओं से निपटने के लिए निदान भी बताये. इसमें किसानों के लिए अलग से किसान बजट, गरीबों को 72,000 की सालाना आमदनी सुनिश्चित करना, मृदाक्षरण को देखते हुए युवाओं को पंचायत से जोड़ने की बात जिससे न केवल मृदा क्षरण रुकेगा बल्कि युवाओं को रोजगार भी मिलेगा. स्वास्थ्य के लिए जीडीपी का तीन प्रतिशत और शिक्षा के लिए जीडीपी का 6 प्रतिशत निर्धारित करने का वादा. ये सब लोकलुभावने वादे हो सकते हैं पर मैनिफेस्टो के मामले में कम सेकम कांग्रेस ने बाजी मार ली है. मैनिफेस्टो में भाजपा का वादा राम मंदिर का निर्माण धारा 370 हटाना 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करना धारा 35 ए  को जिसके तहत कोई बाहरी कश्मीर में जमीन नहीं खरीद सकता किसानों के लिए पेंशन की व्यवस्था मैनिफेस्टो में कांग्रेस का वादा न्याय योजना के अंतर्गत गरीबों के लिए न्यूनतम 72 , 000 सालाना आय सुनिश्चित करना शिक्षा के क्षेत्र में बजट को  बढ़ाकर 2023-24 तक जीडीपी का 6% करना महिला आरक्षण बिल को 17 वीं लोकसभा के पहले सत्र  में पास करना राइट टू हैल्थ केयर अधिनियम लागु करना किसानों के लिए एक अलग किसान बजट बेरोजगारी से निपटने के लिए मार्च 2020  तक सभी सरकारी रिक्त पदों पर बहाली

क्या मोदी जी को मालूम है कि कैसे-कैसे लोग डिस्लेक्सिया से...

उमंग कुमार/ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का एक विडियो क्लिप वायरल हो रहा है जिसमें वो एक ख़ास किस्म की समस्या का मजाक बना रहे हैं....

मोदी की जुबान पर खुद के नाम से अधिक एनडीए का...

आशीष क्षीरसागर/ नरेंद्र मोदी पिछले कुछ भाषणों में एक दिलचस्प बदलाव लेकर आएं हैं. जो मोदी अपनी हर रैली और भाषणों में हमेशा कहते थे...

मध्य प्रदेश में यूनिवर्सल बेसिक इनकम लागू किया गया और ये...

शिखा कौशिक/ चुनावी मौसम में जब दोनों बड़े राष्ट्रीय दल जनता को लुभाने के लिए नए-नए वादे कर रहे हैं. इसी बीच राहुल गाँधी ने...

हिंदी हार्टलैंड में कांग्रेस की सफलता को इन पांच ‘एम’ के...

उमंग कुमार/ कहने वाले कह सकते हैं कि कांग्रेस पार्टी ने हिंदी क्षेत्र के तीनों राज्य में चुनाव जीता तो है पर वैसे नहीं जैसे...

क्या 2018 का चुनावी साल 2019 को समझने में मददगार साबित...

जितेन्द्र राजाराम/ राजस्थान और तेलंगाना को छोड़ कर इस वर्ष के सभी अन्य विधानसभा चुनाव हो चुके हैं. यह चुनावी साल भी अब ख़त्म होने...

आखिर असली मुद्दों पर चुनाव कब लड़ा जाएगा!

आज़ाद सिंह डबास/ आगामी 28 नवम्बर को मध्यप्रदेश विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं. भारतीय वन सेवा के अधिकारी के रुप में अगस्त 1987...

सादगी का ब्यौरा है सेवाग्राम

चैतन्य चन्दन/ इन दिनों महाराष्ट्र के वर्धा जिले में स्थित सेवाग्राम काफ़ी चर्चा में है. दरअसल विगत 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं...

राहुल का एक वादा और डगमगाती शिवराज की नैया

संदीप पौराणिक/ मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में गिने चुने दिन बचे हैं. वाजिब है कि इस राज्य के राजनीति में उठापटक हो रही है. लेकिन...

कर्ज माफी से किसानों का कितना भला होगा?

सतीश राय/ आज 6 जून को किसानों को गोली मारने के एक साल पूरा होने के मौके पर कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने मंदसौर...

‘पारदर्शिता’ की पैरोकार मोदी सरकार राफेल समझौते का ब्यौरा देश को...

सौतुक डेस्क/ करदाता का पैसा, अपनी चुनी हुई सरकार और वह भी वह सरकार जो सत्ता में सिर्फ और सिर्फ पारदर्शिता लाने के नाम पर...

गुजरात चुनाव में हुए कुछ अजब गजब उठा-पटक, कई अप्रत्याशित परिणाम

मोदी के घर में हारी भाजपा तो नोटा तीसरा सबसा बड़ा दल बनकर उभरा सौतुक डेस्क/ यह जानकार ताज्जुब होगा कि गुजरात के लोगों ने भाजपा...

गुजरात में फिर खिल रहा कमल, भाजपा सरकार बनाने की तरफ...

सौतुक डेस्क/ देश के आगे की राजनीति के मद्देनजर अहम् माने जाने वाले गुजरात विधानसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जीत की तरफ...

गुजरात चुनाव प्रचार ने सिखाया मोदी एंड कंपनी की कमजोर नस...

उमंग कुमार/ आज गुजरात के दूसरे और आखिरी चरण का वोट दिया जा रहा है. चुनावी गणित के दिग्गज माने जाने वाले योगेन्द्र यादव ने...

धर्म और राजनीति का घालमेल कौन कर रहा है, मोदी या...

उमंग कुमार/ गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस और देशवासियों से कहा कि चुनाव के साथ...

क्या गुजरात में मोदी-शाह मुंह की खाने वाले हैं?

सौतुक डेस्क/ गुजरात से खबरें और तस्वीरें तो कुछ ऐसी ही आ रही हैं जिनको देखकर सत्तारूढ़ दल की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता...

आज तय हो सकता है बतौर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी...

उमंग कुमार/  ऐसा माना जा रहा है कि राहुल गांधी बहुत जल्दी कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए जायेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने सोमवार को कॉंग्रेस...

जय शाह बनाम राबर्ट वाड्रा

जीतेन्द्र कुमार/साल 2014 का लोकसभा चुनाव याद कीजिए और नरेन्द्र भाई मोदी और अमित शाह जी का भाषण भी. राबर्ट वाड्रा दामाद जी हो...

शुभ समाचार

विज्ञानं