Wednesday, October 16, 2019
Home Tags Folk

Tag: Folk

मधुबनी पेंटिंग और इतिहास का अनूठा मेल

ममता अग्रवाल/ घनी चित्रकारी और उसमें इंद्रधुनषी रंगों को समेटे बिहार की मधुबनी पेंटिंग कला देश ही नहीं, विदेशों में भी लोकप्रिय है। नवोदित कलाकार...

संस्मरण: बचपन के कैलेंडर से

आरती तिवारी/ तुम इसे शिकवा समझ के किसलिए घबरा गए, बाद मुद्दत के जो देखा था तो आँसू आ गए अक़्सर ये ख्याल मन की गलियों में...

लौंडा नाच के सामानांतर गोंड नाच भी लोक का एक हिस्सा...

आशुतोष कुमार पाण्डेय/ लौंडा नाच वैसे तो अपने विस्तार के अनुरूप पढ़े-लिखे लोगों के बीच चर्चा का हिस्सा नहीं हो पाता. फिर भी इतना जरुर...

बघेली लोक कवि: तीसरी किश्त

बाबूलाल दहिया/(बाबूलाल दहिया बघेली भाषा के कवि हैं. साथ ही आप सर्जना सामजिक सांस्कृतिक एवं साहित्यिक मंच, पिथौराबाद के अध्यक्ष भी हैं. बघेली कवियों...

हरिदास: बघेली लोक कवि

बाबूलाल दहिया/ (बाबूलाल दहिया बघेली भाषा के कवि हैं. साथ ही आप सर्जना सामजिक सांस्कृतिक एवं साहित्यिक मंच, पिथौराबाद के अध्यक्ष भी हैं. बघेली कवियों...

ए अरियार का बरियार- लोकगीत के मर्म को समझने के लिए...

श्रीधर दूबे/ (गोरखपुर के रहने वाले श्रीधर दूबे अपने व्यक्तित्व में ही लोक कवि हैं . आजकल नोएडा में कार्यरत हैं. इन्होंने कुछ ऐसी कवितायेँ...

शुभ समाचार

विज्ञानं