अंडे की जर्दी (योक) फायदेमंद है, खाईये और खूब खाईये

0

शिखा कौशिक/

स्वस्थ रहने के लिए अंडे खाने की सलाह दी जाती है. ‘सन्डे हो या मंडे, रोज खाओ अंडे’ तो सुना ही होगा जब हमसे रोज अंडे खाने को कहा जाता था. लेकिन इधर हाल फिलहाल में कई लोग अंडे की जर्दी से परहेज करने लगे हैं. उनका मानना है कि इससे उनके स्वास्थय पर बुरा असर होता है.

लेकिन याद रहे अगर आप अपने अंडे की जर्दी नहीं खा रहे हैं तो आप अंडे से मिलने वाले कुछ सबसे पौष्टिक भाग का फायदा नहीं उठा पा रहे हैं.

उदाहरण के लिए, अंडे की जर्दी (लेकिन सफेद नहीं) में ओमेगा -3 वसा के साथ विटामिन ए, डी, ई और के भी पाया जाता है. अंडे के सफ़ेद हिस्से की तुलना में ज़र्दी में अधिक लाभकारी फोलेट और विटामिन बी 12 होता है. अंडे की जर्दी की तुलना अगर सफ़ेद हिस्से से की जाए तो जर्दी में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है. इसी जर्दी में सारे एंटीऑक्सिडेंट ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन पाए जाते हैं.

इसके बावजूद भी अंडे की जर्दी को दशकों से गलत तरीके से पेश किया जा रहा है और तर्क यह दिया जाता है कि इसमें कोलेस्ट्रॉल और संतृप्त वसा पाया जाता है. ऐसा कहा जाता है कि लोगों को कोलेस्ट्रोल इत्यादि लेने से बचना चाहिए इसलिए बड़ी संख्या में लोग जर्दी को खाना नहीं चाहते. जबकि सत्य यह है कि पशु खाद्य पदार्थों में पाए जाने वाले कोलेस्ट्रॉल और संतृप्त वसा आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हैं. अंडे की जर्दी भी इनमे से एक है.

कई स्वास्थ्यप्रद खाद्य पदार्थों में कोलेस्ट्रॉल (और संतृप्त वसा) बहुलता में पायी जाती है. लेकिन 1950 में आये एक गलत शोध से यह भ्रम फैला कि लोगों के स्वास्थ्य के लिए यह नुकसानदायक है.

जबकि स्थिति एकदम उलट है. कोलेस्ट्रॉल के कई स्वास्थ्य लाभ हैं. यह कोशिकाओं के आपसी संवाद में लगे प्रोटीन के विकास में काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है.

यह पहले ही साबित हो चुका है कि कोलेस्ट्रॉल कोशिका झिल्ली के भीतर भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है. अन्य शोध से यह भी स्पष्ट हुआ है कि कोलेस्ट्रॉल आपके कोशिकाओं के अंदर प्रोटीन के साथ भी जुड़ा रहता है. एक इंसान का शरीर अरबों-खरबों कोशिकाओं से बना है जो आपस में सम्वाद करते रहते हैं. कोलेस्ट्रॉल उन अणुओं में से एक है जो इन अंतःक्रियाओं को आगे बढाने में महती भूमिका अदा करता है.

हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है. शरीर का लगभग 25 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल मस्तिष्क में पाया जाता है.

एक अंडे की जर्दी में लगभग 210 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है और यही कारण है कि कई स्वास्थय विशेषज्ञ और संस्थाएं लम्बे समय से यह कह रहीं हैं कि जर्दी का सेवन कम किया जाना चाहिए.

यह अपने आप में एकदम गलत तर्क है और ऐसा कहने के कई कारण हैं. अव्वल तो यह कि अधिक कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग का कारण नहीं बनता है जैसा कि ये विशेषज्ञ बताते हैं. दूसरे, कोलेस्ट्रॉल युक्त भोजन खाने से आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि नहीं होती है.

अमेरिका के एक ह्रदय विशेषज्ञ डॉक्टर स्टीवन निसेन का कहना है कि आपके रक्त में पाए जाने वाले कोलेस्ट्रॉल के स्तर का केवल 20 प्रतिशत ही आपके आहार से आता है. आपके शरीर के बाकी कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन आपके लीवर द्वारा किया जाता है. लीवर कोलेस्ट्रोल इसीलिए बनाता है क्योंकि मनुष्य के शरीर को इसकी जरुरत होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here