जन्मदिन विशेष: राम की भूमिका ने अरुण गोविल के करियर को हमेशा के लिए वनवास दे दिया

0

सौतुक डेस्क/

अगर आप रामानंद सागर के रामायण से वाकिफ हैं तो अरुण गोविल से तो वाकिफ होंगे ही. वह मोहक मुस्कान, गंभीर बातचीत करने का तरीका, सौम्य व्यक्तित्व कोई भी भला कैसे भुला सकता है. हिन्दू संस्कृति के पुरुषोत्तम राम की इस रुपरेखा को जीवंत किया था इसी अरुण गोविल ने. लेकिन इस कहानी का दूसरा पहलू यह है कि अरुण गोविल फिर उस भूमिका से कभी बाहर निकल ही नहीं पाए और उनका अभिनय का करियर लगभग वहीँ समाप्त हो गया.

यद्यपि कभी कभी अरुण हिंदी छोटी छोटी भूमिका में दीखते भी हैं पर एक समय छोटे परदे की इनकी बादशाहत देखते हुए यह सब मामूली लगता है.

अरुण गोविल का जन्म 12 जनवरी, 1958 को उत्तर प्रदेश के मेरठ में हुआ और उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश में ही की.  इनके पिता चाहते थे कि यह नौकरी करें, लेकिन इनका सोचना अलग था। अरुण कुछ ऐसा करना चाहते थे, जो अलग हो और यादगार बना रहे.

महज 17 वर्ष की उम्र में अरुण मुंबई चले गए और वहां उन्होंने अपना व्यवसाय शुरू किया. व्यवसाय के साथ ही उन्हें एक्टिंग के लिए भी ऑफर मिलने लगे। वर्ष 1977 में तारा बड़जात्या की फिल्म ‘पहेली’ में एक्टिंग करने का अरुण को ऑफर मिला और यह उनकी पहली फिल्म थी.

इसके बाद अरुण ने ‘सावन को आने दो’, ‘सांच को आंच नहीं’, ‘इतनी सी बात’, ‘हिम्मतवाला’, ‘दिलवाला’, ‘हथकड़ी’, और ‘लव-कुश’ जैसी फिल्मों में काम किया. जब रामानंद ने उन्हें ‘रामायण’ में राम की भूमिका के लिए ऑफर दिया, तब तक अरुण खुद को एक अच्छे अभिनेता साबित कर चुके थे. रामायण से पहले भी धारावाहिक ‘विक्रम और बेताल’ में राजा विक्रमादित्य के रूप में भी लोगों ने उन्हें बहुत पसंद किया था.

लेकिन उनके जीवन की यह यात्रा ‘रामायण’ में राम की भूमिका करने के बाद धीमी पड़ती चली गई. अरुण कभी राम की छवि से बाहर नहीं निकल पाए. जितना प्रसिद्ध अरुण गोविल राम का रोल करने के बाद हुए थे, उतना ही बड़ा खामियाजा भी उन्हें इस रोल के बाद भुगतना पड़ा. लोग उन्हें रोमांस और किसी भी निगेटिव रोल में देखना नहीं चाहते थे.

‘रामायण’ सीरियल बने लगभग 30 साल हो गए हैं, लेकिन आज भी लोग अरुण को राम के नाम से ज्यादा जानते है. अरुण ने राम की छवि से निकलने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह असफल रहे. राम के रोल के बाद उन्हें ऐसे ही रोल मिलने लगे. इस कारण अरुण ने लगभग 10 साल के लिए फिल्मों से दूरी बना ली और ‘रामायण’ में लक्ष्मण का रोल करने वाले सुनील लाहिड़ी के साथ मिलकर अपनी प्रोडक्शन कंपनी शुरू कर दी.

-आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here