वीरेनियत 2 में कवि महेश वर्मा का कविता पाठ

0

सौतुक डेस्क/

भारतीय काव्य परंपरा में ज्ञान और दर्शन के समुच्चय की जो तेजोमय धारा है, महेश वर्मा उसमें एक विलक्षण नाम हैं. कौतुक और सरलता से सावचेत दूरी बनाते हुई महेश की कविताएं समुद्र सी गहराई लिए हैं, जिससे उठती आंदोलनधर्मी लहरें बारम्बार पाठक को अपनी ओर आकर्षित करती हैं. छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर के रहने वाले महेश वर्मा का कविता पाठ सुनने का मौका दिल्लीवासियों को ‘वीरेनियत 2’ के आयोजन के दौरान मिला. ‘वीरेनियत 2’, जन संस्कृति मंच  (जसम) का सालाना समारोह है जो कवि वीरेन डंगवाल की स्मृति में  आयोजित किया जाता है. जसम का यह आयोजन 29 अक्टूबर को दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में हुआ. जसम के इस सालाना जलसे में दिल्ली वासियों ने बढ़-चढ़कर अपने कवियों को प्यार दिया. सुनिए कवि महेश वर्मा की कुछ कवितायेँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here