कई पहचान पत्र के हटाने के लिया आया आधार और अब इसको बचाने के लिए दो और पहचान पत्र

0

शिखा कौशिक/

यूनिक आइडेंटिटी (UID) के बाद अब वर्चुअल आइडेंटिटी (VID). जी हाँ, यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया(UIDAI) जो अब तक यह मानने को तैयार नहीं हो रही थी कि आधार केलिए दिया गया आपका ब्यौरा असुरक्षित है, अब एक और नया नंबर लाने की तैयारी में है. एक पत्रकार के इस खुलासे के बाद कि यह सारा ब्यौरा कोई भी 50 रुपये में खरीद सकता है, बजाय किडाटा लीक करनेवालों पर कार्रवाई के उस  पत्रकार पर ही ऍफ़आईआर कर दिया गया.

इस सब के बाद अब इस ब्योरे को अधिक सुरक्षित करने के लिए एक नया नंबर लाया जा रहा है जो आप किसी के माँगनेपर दिखाएँगे. इसके मायने यह कि अब आधार का पूरा आधार कि सबकुछ केलिए बस एक कार्ड और नम्बर होगा वही फिसड्डी साबित हुआ. दूसरे, कि यह सच में असुरक्षित था और सरकार लोगों से बार-बार झूठ बोल रही थी.

अब UIDAI का तर्क यह है कि इससे आपको बार-बार अपना आधार नहीं देना पड़ेगा और इस तरह आधार के लिए दिए ब्योरे सुरक्षित रहेगा

UIDAI का तर्क है कि इससे लोगों को बार बार आधार नहीं दिखाना पड़ेगा और इस तरह आधार से जुड़े सारे ब्योरे सुरक्षित रहेंगे.

बुधवार को जारी एक सूचना ने इस संस्था ने समझया है कि VID किस तरह इस्तेमाल होगा. सोलह अंको कि यह संख्या आधार की जगह पर किसी को दे सकेंगे. इसके अनुसार VID में तात्कालिक तौर पर आपको सोलह अंको का एक नंबर दिया जाएगा. हर एक आधार के लिए एक समय में एक ही VID होगा. यह भी एक ख़ास समय के लिए मान्य होगा.

अपनी समय सीमा के बाद यह अपने आप  अमान्य हो जाएगा.

UIDAI ने अपने बयान में कहा कि इसकी नक़ल नहीं तैयार की जा सकती और कोई अन्य संस्था दूसरा VID ही तैयार कर सकती है.लेकिन साथ में यह भी कहना नहीं भूले कि आप अपना VID आधार के पोर्टल, जहां आधार बनता है वहाँ  और मोबाइल पर आधार एप से बनवा सकते हैं.

ऐसी सुविधाएं जिसे पाने के लिए आधार संख्या की ज़रुरत होती है, उन स्थानों पर उपयोग के लिए  ताकि एक नया KYC यानि (अपने कस्टमर को जानिये) लाया जायेगा. इस तरह अब एक आधार से तीन नई चीजें आ गई हैं.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here