रोमांचक मुकाबले में भारतीय महिला टीम विश्वकप के फाइनल में हारी

0
सौतुक डेस्क/
भले ही भारतीय महिला क्रिकेट टीम दुबारा फाइनल तक पहुँच कर विश्वकप नहीं जीत पाई. लेकिन यह मुकाबला अंत तक काफी रोमांचक रहा. इंग्लैंड  ने भारत के सामने 228 रनों का लक्ष्य रखा था.  भारतीय टीम यह मैच  10 रनों से हार गयी.  इससे पहले वर्ष 2005 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए महिला क्रिकेट विश्वकप में भारत पहली बार फाइनल में पहुँचने में कामयाब हुआ था. पर एकतरफा मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने वह विश्वकप जीत लिया था.
मिताली राज  की कप्तानी में इस टीम ने शुरू से अपनी ताकत का अंदाज़ा तो कराया पर फाइनल का दबाव नहीं झेल पाई. श्रृंखला में भारत ने अब तक के विश्व-विजेता ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैण्ड को हराकर विश्वकप के जीतने की दावेदारी पेश की थी.
भारतीय पारी की शुरुआत करते हुए पूनम राउत ने 86 रन की जबरदस्त पारी खेली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जबरदस्त पारी खेलने वाली हरमनप्रीत कौर ने भी अर्धशतक की महत्वपूर्ण पारी खेली. लेकिन फाइनल जीतने के लिए यह काफी नहीं साबित हुआ.
पूनम राउत जब तक खेल रही थीं तब तक भारतीय टीम मैच में बनी रही. उनके आउट होने के बाद पूरी टीम एक के बाद एक ढहती चली गई.
ओपनर पूनम राउत ने किया बेहतरीन प्रदर्शन
तीन बार की विश्वविजेता टीम इंग्लैण्ड शुरू से ही अनुभवी टीम की तरह खेल रही थी. वहीँ भारतीय टीम अच्छे खेल का प्रदर्शन कर रही थी लेकिन फाइनल का दबाव टीम पर दिख रहा था. सनद रहे कि अंग्रेजी टीम इस विश्वकप को जीतने के साथ चौथी बार विश्वविजेता बनी. इनसे आगे बस आस्ट्रेलिया ही है जिसने छः बार विश्वकप जीता है.  न्यूज़ीलैंड ने एक बार यह कप जीता है.
बीसीसीअई ने पहले ही भारतीय टीम के फाइनल में पहुँचने पर प्रत्येक खिलाड़ियों को 50 लाख रुपये के इनाम की घोषणा कर रखी है.
हार के बावजूद भारतीय टीम ने यह साबित कर दिया है कि आने वाले समय में ये टीम एक बुलंद क्रिकेट टीम बनी रहेगी. विश्वकप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई की पूनम राउत ने सबसे अधिक रन बनाकर आखिरी तक उम्मीद बनाये रखा. वर्ष 2009 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत करने वाली पूनम ने फ़ाइनल में भारत को एक मजबूत शुरुआत दी. इस अर्धशतक के साथ पूनम भारत की पहली ओपनर बन गई हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप के एक एडिशन में तीन फिफ्टी प्लस रन वाले स्कोर बनाए. छोटे कद की महिला बल्लेबाज ने इंग्लैंड के खिलाफ 2017 महिला वर्ल्डकप के ग्रुप चरण के अपने पहले मैच में भी 86 रन की पारी खेली थी. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ग्रुप चरण के मैच में उन्होंने जोरदार शतक (106) लगाया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here