धोनी ने दिया अपने आलोचकों को जवाब

0

सौतुक डेस्क/

हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक T-20 क्रिकेट मैच में लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाने की पर पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के टी-20 टीम में होने पर सवाल खड़े किये जा रहे थे. अमूमन ऐसे मौकों पर चुप्पी साध जाने वाले धोनी ने अपनी आलोचना का जवाब दिया और कहा कि ‘लोगों के अपने अपने विचार होते हैं और उनकी इज्जत की जानी चाहिए.”

मौका था दुबई में धोनी के क्रिकेट अकादमी के लॉन्च का और धोनी वहाँ के स्थानीय मीडिया समूह खलीज टाइम्स को साक्षात्कार दे रहे थे.

सनद रहे कि हाल ही में कुछ खिलाडियों जैसे अजित अगरकर, गौतम गंभीर और वीवीएस लक्ष्मण समेत कई अन्य क्रिकेटरों ने धोनी के टीम में होने पर सवाल खड़ा किया था.

खलीज टाइम्स से बात करते हुए धोनी ने कहा, ‘सभी के अपने-अपने विचार होते हैं और उनका सम्मान क्या जाना चाहिए. सबको अपनी बात कहने का हक है. टीम इंडिया का हिस्सा होना ही मेरे लिए सबसे बड़ी प्रेरणा है.’

धोनी ने स्पष्ट किया कि मैच के नतीजे ही हमेशा सबसे अहम् नहीं होते. उन्होंने कहा, “मैंने कभी भी परिणाम के बारे में नहीं सोचा, मैंने हमेशा यही सोचा कि उस समय क्या करना ठीक होगा, भले ही तब 10 रन की जरूरत हो, 14 रन की जरूरत हो या फिर पांच रन की जरूरत हो.’

टी-20 में धोनी के खेलने पर कई पूर्व खिलाड़ियों ने प्रश्न खड़े किये थे

इसकी शुरुआत राजकोट में खेले गए न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में टीम इंडिया की हार से शुरू हुई. उसके बाद कई पूर्व खिलाड़ी जैसे वीवीएस लक्ष्मण, गौतम गंभीर, अजीत अगरकर इत्यादि ने महेंद्र सिंह धोनी को हटाकर टीम में नए खिलाड़ी को जगह देने की बात कही थी.

वीवीएस लक्ष्मण का बयान कुछ ऐसा था कि अब समय आ गया है कि टीम मैनेजमेंट को धोनी की जगह टी-20 फॉर्मेट में किसी युवा खिलाड़ी को लाए. आकाश चोपड़ा तक ने यह बोल दिया कि श्रीलंका से होने वाले मैच में धोनी को नहीं लिया जाना चाहिए.

विराट कोहली के साथ शास्त्री ने भी किया धोनी का बचाव

विराट कोहली ने ऐसे लोगों को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि एक मैच में हार के बाद ये लोग खिलाड़ियों को टीम से बाहर का रास्ता दिखाने की बात करने लगते हैं. वहीँ टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने धोनी के आलोचकों को करारा जबाव दिया. उन्होंने यहाँ तक कह दिया, ‘ऐसा लग रहा है कि उनके आस-पास उनसे जलने वाले कई लोग हैं, जो उनके करियर में बुरे दिन देखना चाहते हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here