ऑस्कर की जटिल कहानी: न्यूटन ने भी तोड़ी आस

0

सौतुक डेस्क/

न्यूटन फिल्म से देश के सिनेप्रेमियों को उम्मीदें थीं कि भारत की वर्षों से ऑस्कर की आस पूरी हो सकेगी. लेकिन अमित मसूरकर की यह फिल्म जिसने देश में काफी नाम कमाया, ऑस्कर की दौड़ से बाहर हो चुकी है. इस तरह राजकुमार राव अभिनीत यह फिल्म ऑस्कर के विदेशी फिल्म श्रेणी के आखिरी पांच में भी जगह बनाने में असफल हो रही. आखिरी पांच में अब तक भारत से तीन फ़िल्में जा चुकी हैं.

सनद रहे कि भारत ने ऑस्कर के विदेशी भाषा में सर्वोत्तम फिल्म का पुरस्कार आजतक नहीं जीता है. अकादमी अवार्ड के नाम से जाने-जाने वाले विश्व के सबसे चर्चित सिनेमा पुरस्कार के आख़िरी पायदान तक भारत की तीन फ़िल्में जरुर पहुंची है पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म का खिताब पाने का सपना अधूरा ही रह गया है. इन तीन फिल्मों में महबूब खान की मदर इंडिया (1955), मीरा नायर की सलाम बॉम्बे  (1985) और आशुतोष गोवारिकर की लगान (2002) शामिल है. इस साल न्यूटन ने उम्मीद जगाई थी पर…

 

अभी जो नौ फ़िल्में ऑस्कर के विदेशी फिल्म अवार्ड जीतने की दौड़ में शामिल हैं उनमे चिली से अ फैंटास्टिक वुमन, जर्मनी से इन द फेड, स्वीडन की दी स्क्वायरकांस का पाम दे ऑरे विजेता फिल्म, हंगरी से ओन बॉडी एंड सोल, रूस से लवलेस, दक्षिण अफ्रीका से दी वुंड, इजरायल से फ़ाक्सत्रोट, सेनेगल से फेलीसाईट और लेबनान से द इन्सल्ट.

ऑस्कर के विदेशी फिल्मों के पहले चरण में चयन 20 लोगों की एक समिति करती है. आखिरी पांच फिल्मों में से सर्वश्रेष्ठ का चयन विदेशी समिति के द्वारा किया जाता है.

ऑस्कर के विदेशी फिल्मों के पहले चरण में चयन 20 लोगों की  समिति करती है .आखिरी पांच फिल्मों में से सर्वश्रेष्ठ का चयन विदेशी समिति के द्वारा किया जाता है

आपको मालूम होना चाहिए कि इस बार ऑस्कर के लिए फिल्म का नाम भेजने की आखिरी तारीख अक्टूबर 2 रखी गयी थी. पिछले साल महज 82 देशों की फिल्म ऑस्कर की सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्मों की दौड़ शामिल हुई थीं. इस बार 92 फ़िल्में इस दौड़ शामिल रहीं. इस साल फिल्म भेजने वालों में छः ऐसे देश शामिल हैं जिन्होंने पहली बार कोई फिल्म भेजी है. ये देश हैं हैती, होंडुरस, लाओ पीपल’स डेमोक्रेटिक रिपब्लिक, मोजाम्बीक, सेनेगल और सिरिया.

आखिरी पांच फिल्मों की घोषणा 23 जनवरी को की जाएगी.

ऑस्कर के विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म के पुरस्कार के लिए कोई भी देश किसी भी भाषा की फिल्म भेज सकता है, अंग्रेजी को छोड़कर. भले वह भाषा उसकी अधिकारिक भाषा हो न हो. इसी तरह अमेरिका का फिल्म निर्माता निर्देशक इस श्रेणी में अपनी फ़िल्में नहीं भेज सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here