मोगली: यह समीक्षा नहीं है

0

रजनीश जे जैन/

रजनीश जे जैन

दूरदर्शन ने अपने स्वर्णिम दिनों में ‘जंगल बुक’ की एनिमेटेड सीरीज प्रसारित की थी. यद्यपि इस जापानी सीरीज को हिंदी वॉइसओवर के साथ दिखाया गया था जिसके लिए गुलजार साहब ने शीर्षक गीत लिखा था ‘जंगल जंगल बात चली है पता चला है, चड्ढी पहन के फूल खिला है.’ यह गीत आज पच्चीस बरस बाद भी हर छोटे बड़े की जुबान पर है.

कोईआश्चर्य नहीं कि भारत में जन्मे ब्रिटिश लेखक रुडयार्ड किपलिंग की कहानियों पर बनी ‘जंगल बुक’ की लोकप्रियता आज भी  बरकरार है. इन कहानियों के केंद्रीय पात्र मोगली और जंगली जानवरों के सहअस्तित्व ने दर्शकों के अवचेतन में सभ्य समाज और जंगल के कानून के विरोधाभास को सहजता से उतार दिया है. तकरीबन डेढ़ सदी पहले लिखी गई कहानियों ने एक कालजयी पुस्तक ‘जंगल बुक’ का रूप लिया और कई पीढ़ियों की कल्पना में रंग घोलते हुए आज भी दर्शकों को लुभाने की क्षमता बरकरार रखी  है.

इन कहानियों से प्रेरणा लेकर नई  कहानियाँ, नाटक और फिल्मों का निर्माण लगातार हो रहा है. यह दुखद आश्चर्य है कि भारत की पृष्ठभूमि पर आधारित इन कहानियों को फिल्माने में भारतीय सिनेमा पीछे रहा है. हॉलीवुड में हर काल खंड में इन कहानियों को दोहराया गया है. संभवतः मोगली की मासूमियत और जानवरों की दुनिया के दुस्साहस का रोमांच इसके लगातार दुहराव की वजह बना है. विज़ुअल इफ़ेक्ट और कंप्यूटरजनित दृश्यों के तालमेल ने फिल्मकारों की कल्पना को नए पंख दिए है.

शीघ्र प्रदर्शित हो रही फिल्म ‘मोगली’ में हॉलीवुड के बड़े सितारों और वीएफएक्स की मदद से दर्शनीय कारनामा रचा गया है. एंडी सर्किस के निर्देशन में बनी ‘मोगली लीजेंड ऑफ़ द जंगल’ सिनेमाघरों में  3D के साथ और  नेटफ्लिक्स पर  टीवी दर्शकों के लिए  एक साथ  प्रदर्शित की जायेगी. मोगली में भारतीय मूल के रोहन चंद मुख्य भूमिका में है.

आदिवासी लड़की की भूमिका फ्रीडा पिंटो (स्लमडॉग मिलेनियर) ने निभाई है. फिल्म के अंग्रेजी संस्करण में हॉलीवुड के बड़े सितारों  क्रिस्चियन बेले, केट ब्लैंचेट, नाओमी हरिस, एंडी सर्किस आदि ने  अपनी आवाज दी है वही हिंदी वर्जन में अभिषेक बच्चन, जैकी श्रॉफ, करीना कपूर, अनिल कपूर  और माधुरी दीक्षित जैसे बड़े नामों ने अपनी आवाज दी है.

किसी फिल्म के विचार से लेकर उसके दर्शकों तक पहुँचने में कितना समय लगता है , यह ‘मोगली’ के बनने की कहानी को देखकर समझा जा सकता है. वार्नर ब्रदर्स ने 2012 में इस फिल्म के बारे में बात करना आरम्भ किया और स्टीव क्लोव, रोन हॉवर्ड, एलेजैंड्रो गोंजालेज जैसे निर्देशकों से संपर्क किया परन्तु बात नहीं बनी.

अंत में एंडी सर्किस को जिम्मेदारी सौपी गई जो ‘राइज ऑफ़ प्लेनेट ऍप’ जैसी चर्चित फिल्म निर्देशित कर चुके थे. 2014 में फिल्म के कलाकारों का चयन किया गया और 2015 में फिल्म की शूटिंग दक्षिण अफ्रीका में आरम्भ हुई. 2016 के अक्टूबर में फिल्म को रिलीज़ करना तय किया गया परन्तु एन वक्त पर महसूस हुआ कि विज़ुअल इफेक्ट इतने प्रभावशाली नहीं है. चुनांचे विसुअल इफ़ेक्ट पर फिर से काम आरम्भ हुआ. इसी दौरान वाल्ट डिज्नी निर्मित ‘जंगल बुक’ प्रदर्शित हो गई. दोनों के बीच अंतर रखने के लिए ‘मोगली’ में इस बार जानबूझकर देरी की गई.

2018 में वार्नर ब्रदर्स ने मोगली के कॉपी राइट वीडियो स्ट्रीमिंग साइट नेटफ्लिक्स को बेच दिए जो इसे अब अपने प्लेटफार्म के साथ सिनेमाघरों में भी 7 दिसंबर को प्रदर्शित करेगा.

एंडी सर्किस की टीम में शामिल नामों को देखकर उम्मीद की जा सकती है कि ‘मोगली-लीजेंड ऑफ़ द जंगल’ बॉक्स ऑफिस पर चमत्कार कर जायेगी. माइकेल सरसीन- डायरेक्टर ऑफ़ फोटोग्राफी (वॉर फॉर प्लेनेट ऑफ़ एप), गेरी फ्रीमैन -प्रोडक्शन डिज़ाइनर (टॉम्ब राइडर), मार्क संगेर -एडिटर ( ग्रेविटी ), नितिन साहनी- संगीत (ब्रीथ) जैसे पेशेवर ‘मोगली’ से उम्मीद बढ़ा देते है.

(रजनीश जे जैन की शिक्षा दीक्षा जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय से हुई है. आजकल  वे मध्य प्रदेश के शुजालपुर में रहते हैं और  पत्र -पत्रिकाओं में  विभिन्न मुद्दों पर अपनी महत्वपूर्ण और शोधपरक राय रखते रहते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here