हॉलीवुड से सिनेदर्शकों को मिली दो चौंकाने वाली खबर

0

रजनीश जे जैन/

मार्च के अंतिम दिनों में हॉलीवुड से एक झन्नाटेदार खबर आई थी कि ऑस्कर समारोह के दौरान अभिनेता विल स्मिथ ने शो के होस्ट क्रिस रॉक को थप्पड़ जड़ दिया। विल अपनी पत्नी पर किये एक तंज से नाराज थे,  उन्होंने तुरंत लाइव शो में हिसाब चुकता कर लिया जिसे सारी दुनिया ने देखा और सोशल मीडिया तत्काल  दो भागों में बट गया।

आधे लोग विल स्मिथ के किये पर अफ़सोस जता रहे थे और आधे उनके समर्थन में उतर आये। इतना काफी नहीं था जैसे! वैश्विक सिनेमा के दर्शको को अगला झटका ब्रूस विलिस ने दिया। उनके परिवार ने सूचित किया कि हॉलीवुड के इस सड़सठ वर्षीय सितारे को फिल्मों से संन्यास दिलाया जा रहा है क्योंकि उनकी स्मृति मंद होने लगी है और वे शूटिंग के दौरान अपने डायलॉग याद नहीं रख पा रहे है। वे ‘एफसीआ’ नाम की बिमारी से ग्रसित हो गए है! भारत में एक बड़ा दर्शक वर्ग ब्रूस विलिस को उनकी ‘डाई हार्ड’ सीरीज की पांच फिल्मों, भारतीय मूल के निर्माता एम नाईट श्यामलम की ‘सिक्स सेंस’,  थ्रिलर ‘पल्प फिक्शन’, आर्मगेडॉन, ट्वेल्व मंकीस, जैसी फिल्मो के नायक के रूप में पहचानता है।

अमेरिकी अखबार ‘लॉस एंजलस टाइम्स’ ने इस मसले की पड़ताल करते हुए परिवार और समाज का वह चेहरा दिखाया जो अमूमन छुपा लिया जाता है। अखबार ने बताया कि उनके साथ काम कर चुके कई निर्देशक और अभिनेताओं को ब्रूस विलिस की गिरती सेहत का अंदाजा काफी पहले हो गया था लेकिन ब्रूस विलिस के साथ हमेशा चलने वाला मैनेजरों का लाव लश्कर इस बात को बाहर नहीं निकलने देता था। यही रवैया उनके परिवार का भी रहा! इसकी वजह भी स्पष्ट थी, ब्रूस 2018 में फिल्मो से दो दिन की शूटिंग के दो मिलियन डॉलर तक चार्ज कर रहे थे और उनके स्टाफ को भी मोटा कमीशन मिल रहा था। सामान्य फिल्मो में भी उनका होना उस फिल्म के टकसाल में बदल जाने की गारंटी हुआ करता था। साथ छोड़ती स्मृति, आवाज का अटपटा आरोह-अवरोह और बोलते वक्त शब्दों का क्रम बदल जाना ब्रूस विलिस के स्वर्णिम करियर के पतन  का कारण बना है! आर्क लाइट की परिधि से ब्रूस भले ही बाहर हो गए हों लेकिन उनकी सत्तर से अधिक फिल्मे और उनके निभाए किरदार उनकी महानता कम नहीं होने देंगे!

(रजनीश जे जैन की शिक्षा दीक्षा जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय से हुई है। आजकल वे मध्य प्रदेश के शुजालपुर में रहते हैं और पत्र -पत्रिकाओं में विभिन्न मुद्दों पर अपनी महत्वपूर्ण और शोधपरक राय रखते रहते हैं।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here