48वें भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोह का आग़ाज़: सितारों की महफ़िल और सिनेमा  का जादू

0

सुदीप सोहनी/

गोवा में हर सड़क और बीच पर सिनेमा का माहौल है. सिनेमा की मस्ती और रंगों से पणजी शहर सराबोर है. यहाँ के होटल भी सप्ताह भर के लिए बुक हो चुके हैं. भारत का सुदूर पश्चिमी छोर जहाँ अरब सागर की लहरें छोटे प्रदेश गोवा को सँवारती हैं, उसकी राजधानी पणजी में कल की शाम एक यादगार शाम बन गई.

सुदीप सोहनी

कल शाम गोवा विश्वविद्यालय के श्यामाप्रसाद मुखर्जी ऑडिटोरियम में पैर रखने की जगह नहीं थी. ‘बैंड्स ऑफ़ इंडिया’, जिसमें देश के प्रतिनिधि राज्यों के वाद्य शामिल हैं, और विभिन्न नृत्यों के संयोजन-प्रस्तुति के साथ 48वें भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव की शुरुआत हुई. मंच पर शाहरुख़ खान अपने जलवे बिखेर रहे थे.

उन्होंने औपचारिक स्वागत के लिए गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को आमंत्रित किया. उनके स्वागत वक्तव्य के साथ यह समारोह शुरू हो गया. आगे की कमान राजकुमार राव और राधिका आपटे सम्भाल ली.

48 साल पहले शुरू हुए इस समारोह ने 1952 में अपने अस्तित्व का सपना देखा और देश-विदेश के सिनेमा को देखने के साथ ही कला तथा कलाकारों को एक साथ एक जगह होने का मौक़ा व अनुभव दिया. तब से अब तक इस समारोह ने दुनिया के सामने भारत का अन्तर्राष्ट्रीय सिनेमाई समारोह रचने का साहस करते हुए अपनी साख बनाई है.

कल के इस समारोह में गोवा की राज्यपाल मृदुला गर्ग, सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी तथा अन्य मंत्रीगण, ए आर रहमान, नाना पाटेकर, अनुपम खेर, श्रीदेवी, बोनी कपूर, प्रसून जोशी, पीयूष पांडे, सुभाष घई, दिव्या दत्ता, मुज़फ़्फ़र अली, सिद्धार्थ रॉय कपूर जैसे नाम और चेहरे उपस्थित थे.

20 से 28 नवम्बर 2017 तक चलने वाले इस फ़ेस्टिवल में 82 देशों की 180 से ज़्यादा फ़िल्में दिखाई जाएँगी.

दर्शकों का हुजूम चारों तरफ पसरा हुआ था. 20 से 28 नवम्बर 2017 तक चलने वाले इस फ़ेस्टिवल में 82 देशों की 180 से ज़्यादा फ़िल्में दिखाई जाएँगी. कल विश्वप्रसिद्ध फ़िल्मकार ईरान के माजिद मजीदी की भारतीय फ़िल्म ‘बियोंड द क्लाउड्स’ का प्रदर्शन हुआ जिसका संगीत ए आर रहमान ने दिया है. इस फ़िल्म पर दुनियाभर के फ़िल्म प्रेमियों की निगाहें हैं. माजिद मजीदी को इस समारोह के मंच पर अपनी फ़िल्म के बारे में कहते हुए सुनना मेरे लिए इस समारोह का सबसे बड़ा हासिल है. इसके साथ ही आज यानि 21 नवम्बर से आइनॉक्स थिएटर, कला अकादमी सहित अन्य मंचों पर फ़िल्मों के प्रदर्शन शुरू हो जाएँगे. कैटेगरी हिसाब से भारतीय व अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा कॉम्पिटिशन भी शुरू हो जाएगा.

इस बार अतिथि देश का दर्जा कनाडा को मिला है और समारोह में विशेष तौर पर यहाँ की फ़िल्में दिखाई जाएँगी. साथ ही भारतीय फ़िल्म इंडस्ट्री के कलाकारों ओम पुरी, जयललिता, विनोद खन्ना, रीमा लागू आदि की फ़िल्में उनकी मृत्यु के पश्चात सम्मानस्वरूप दिखाई जाएँगी. एक और सेक्शन जेम्स बॉंन्ड सीरीज़ की फ़िल्मों का भी है. साथ ही फ़राह खान, करण जौहर, शेखर कपूर, टीम दंगल की मास्टर कलासेस भी होंगी. दूर दराज देशों से लेकर भारत के राज्यों की उपस्थिति यहाँ देखी जा सकती हैं. कुल मिलाकर सिनेमा ने अपने रंग बिखेर दिए हैं और पणजी शहर दिन-रात, सुबह-शाम सितारों सा झिलमिला रहा है.

(फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया से शिक्षा ग्रहण कर सुदीप सोहनी आजकल विहान ड्रामा वर्क्स से जुड़े हुए हैं. मूलतः खंडवा के रहने वाले सुदीप आजकल भोपाल में रहते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here