एवेंजर्स इंडगेम: आज के दौर की सबसे रोचक फिल्म

0

सैयद एस. तौहीद/

सैयद एस. तौहीद

लंबे इंतजार के बाद भारत में ‘एवेंजर्स इंडगेम’ रिलीज हो गई है. हिंदी अंग्रेजी के अलावा तमिल और तेलुगू में भी रिलीज हुई है. फिल्म का इंतजार इसलिए भी था क्योंकि ये एवेंजर्स सीरिज की सबसे उत्सुकता जगाने वाली फ़िल्म है. फिल्म के क्लाइमैक्स सीक्वेंस हमें झकझोर कर रख देता है. बार बार लौटने को आमंत्रित करता है. एक्शन एवं भावनाओं का सामंजस्य एवेंजर्स की ताकत रही है. इस बार भी फ्रेंचाइजी ने दर्शकों की नब्ज को पकड़ते हुए जबरदस्त फ़िल्म बनाई है. एवेंजर्स सीरीज की सबसे रोमांचक फिल्म बनाई है. ऐवेंजर्स एंडगेम के सभी किरदारों ने बेहतरीन अभिनय किया है. फिल्म का रनिंग टाईम हमें आंख हटाने नहीं देता. क्या सुपरहीरोज दुनिया का अंत होने के रोक पाएंगे? क्या थेनोस का अंत होगा? अंत तक का सफर हमें बांधे रखता है.  कहानी के साथ साथ यहां बैकग्राउंड स्कोर भी कमाल का है. स्पेशल इफैक्ट्स अपना कमाल करता है. सभी कलाकारों ने अपने किरदारों के साथ न्याय किया है. थेनोस के किरदार में जोश ब्रोलिन टोनी स्टार्क की तरह ही लंबे समय तक याद रहेंगे.

ऐवेंजर्स एंडगेम एक ही समय में हमें हंसाती और दूसरे ही पल भावुक कर जाती है. कहना होगा कि सीरीज़ की सबसे भावुक फ़िल्म निकलकर आती है. पुरानी यादों को ताजा करना उससे ताल्लुक जोड़ लेना इसकी बड़ी ताक़त है. एक अविस्मरणीय नॉस्टेल्जिया. बहुत समय के बाद तीन घंटे की फ़िल्म देखते हुए वक्त का एहसास ही नहीं होता. फ़िल्म कुछ ऐसा ही इंगेजिंग अनुभव निर्मित करती है. हम लगभग उसमे डूब से जाते हैं. एवेंजर्स पिछले नोस्टाल्जिया को कुछ यूं बुनती है. तरोताज़ा हो जाती हैं. एवेंजर्स एंडगेम को अतीत के साथ खूबसूरती से जोड़ा गया है. सुपर हीरोज की इस फ़िल्म में वैश्विक अपील है. इनके अद्भुत-अनोखी शक्तियों ने समय-समय पर सृष्टि को बचाया है. इनका रोचक संसार सदा से आकर्षित करता रहा है. इस बार भी फ्रेंचाइजी वही करती है. एक लगाव लेकर जाने पर फिल्म में बहुत आनंद आता है. फिल्म ज़्यादा समझ में आती है. इंडगेम के साथ असीम लगाव फ़िल्म की उपयोगिता बढ़ा जाता है.

फिल्म की कहानी वहीं से शुरू होती है जहां पिछली बार ऐवेंजर्स इन्फिनिटी वॉर खत्म हुई थी. थेनोस ने सभी इन्फिनिटी स्टोन हासिल करने के बाद दुनिया के वजूद को खतरे में डाल दिया है. मार्वल फैन की मुस्कुराहट भी छीन ली है.

टोनी स्टार्क स्पेस में नेब्यूला के साथ अकेले हैं. सभी सुपरहीरोज थेनोस से बदला लेना चाहते हैं. सुपर हीरोज की पूरी टीम यहां एक साथ है. दरअसल क्वांटम थियरी के जरिए यदि वो अतीत में जाकर थैनोस से पहले उन मणियों को प्राप्त कर लें, तो इन्फिनिटी जंग से बचा जा सकता है. खोए अपनों को वापस लाया जा सकता है. विभिन्न परिस्थियों से गुजरकर टीम मणियों को प्राप्त करनें में सफल हो जाती है. आइरन मैन (रॉबर्ट डाउनी), कैप्टन अमेरिका (क्रिस इवांस), थॉर (क्रिस हैम्सवर्थ), हल्क (मार्क रफैलो), ब्लैक विडो (स्कारलेट जोहानसन), जेरेमी रेनर, ऐंट मैन (पॉल रड) कैप्टन मार्वल (ब्री लार्सन) की टीम थैनोस से इंगेजिंग बदला लेती है.

अवेंजर्स एंडगेम को आज के दौर की सबसे रोचक फिल्म कहना गलत नहीं होगा .बुराई के ऊपर अच्छाई की जीत वाली शाश्वत अपील लिए हुई यह फ़िल्म बहुत गहराई लिए हुए है. इसी वजह से इसका रिपीट मूल्य ज़्यादा है. एक बार नहीं बार बार देखी जानी चाहिए. आप एवेंजर्स का कोई भी प्रशंसक फ़िल्म मिस नहीं करेगा. यही नहीं आम दर्शक भी इससे अभिभूत हुए बिना नहीं रह सकता. महंगा टिकट होने के बाद भी सिनेमाघरों की भीड़ तो कम से कम यही कहती है.

(सैयद एस. तौहीद जामिया मिल्लिया के मीडिया स्नातक हैं। पटना से ताल्लुक रखते हैं। सिनेमा केंद्रित पब्लिक फोरम से लेखन की शुरुआत की। सिनेमा व संस्कृति विशेषकर फिल्मों पर लेखन करते हैं।फ़िल्म समीक्षाओं में निरन्तर सक्रिय। सिनेमा पर दो ईबुक्स प्रकाशित। प्रतिश्रुति प्रकाशन द्वारा सिनेमा पर पुस्तक प्रकाशित । [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here